How Long Does RainX Rain Repellent Last on Windshield; Price and Working Process | तेज बारिश में कार ड्राइविंग को आसान बना देते हैं रेन रिपेलेंट, ऐसे किया जाता है इसका इस्तेमाल; एक्सपर्ट ने बताया इस मौसम में इसलिए जरूरी

Hindi InformationTech autoHow Lengthy Does RainX Rain Repellent Final On Windshield; Worth And Working Course ofनई दिल्ली9 मिनट पहलेकॉपी लिंकरेन रिपेल

खुश पैर: अंटार्कटिक पेंगुइन कम समुद्री बर्फ के साथ वर्षों के दौरान जनसंख्या में वृद्धि देखते हैं- प्रौद्योगिकी समाचार, फ़र्स्टपोस्ट
Enjoy IPL 2020 on 43-inch low budget cheapest and best features television | IPL को ज्यादा मजेदार बना देंगे 43-इंच स्क्रीन वाले ये 10 टीवी, कीमत 20 हजार से भी कम; 1000 रु से भी कम में कंपनी दे रही खरीदने का मौका
Top 5 Data Recovery Tools (Free and Paid)

  • Hindi Information
  • Tech auto
  • How Lengthy Does RainX Rain Repellent Final On Windshield; Worth And Working Course of

नई दिल्ली9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रेन रिपेलेंट एक तरह की पॉलिस होती है, जिसे ग्लास पर बाहर की तरफ लगाया जाता है

  • कार की बैक विंडशील्ड ग्लास और साइड मिरर पर भी किया जाता है इसका इस्तेमाल
  • ये बारिश के पानी को ग्लास पर बहने से रोकता है और उसे बूंदों में बदल देता है

मानसून के दिनों में कार सबसे सेफ मानी जाती है। हालांकि, तेज बारिश के दौरान कार की ड्राइविंग भी आसान नहीं रह जाती। खासकर, जब पानी कार के विंडशील्ड ग्लास पर तेजी से बहता है तब वाइपर्स चलाने के बाद भी विजिबिलिटी काफी कम रहती है। ऐसे में हादसा होने की संभावना बढ़ जाती है।

बारिश का पानी कार के ग्लास पर टिके नहीं इसके लिए बाजार में रेन रिपेलेंट मौजूद हैं। इसका इस्तेमाल कार के विंडशील्ड ग्लास पर किया जाता है। इस रिपेलेंट की खास बात है कि ग्लास पर पानी का फ्लो कम कर देता है और उसे बूंदों में बदल देता है।

लंबे समय तक नहीं टिकता रिपेलेंट
रेन रिपलेंट को लेकर ऑटो एक्सपर्ट और यूट्यूबर अमित खरे (आस्क कारगुरु) ने कहा, “इनके इस्तेमाल से पानी ग्लास पर नहीं टिकता ये बात सही है, लेकिन इसका इस्तेमाल जल्दी-जल्दी करना पड़ता है। विंडशील्ड ग्लास पर रिपेलेंट की लाइफ four से 5 दिन की होती है, क्योंकि वाइपर्स चलने से रिपेलेंट जल्दी हट जाता है।”

उन्होंने बताया कि यदि कार के बैक ग्लास पर वाइपर नहीं है तब उस पर रिपेलेंट की लाइफ ज्यादा होती है। साथ ही, इसका इस्तेमाल कार के साइड मिरर पर भी कर सकते हैं। बारिश के मौसम में रेन रिपेलेंट को हमेशा कार में रखना चाहिए।

ऐसे काम करता है रिपेलेंट
अमित खरे ने कहा, “रेन रिपेलेंट में पॉलीसिलोक्सन और हाइड्रोक्सी-टर्मिनेटेड इन्ग्रेडिएंट्स होते हैं। जो ग्लास के ऊपर सिंथेटिक हाइड्रोफोबिक की लेयर बना देते हैं। ये एंटी वाटर एलिमेंट होते हैं जो पानी को बूंदों में बदल देते हैं। इससे पानी ग्लास पर टिक नहीं पाती और बिजिबिलिटी बढ़ जाती है। हल्की बारिश में तो कार के वाइपर्स चलाने की भी जरूरत नहीं पड़ती।

विंडशील्ड ग्लास पर लगाने का तरीका
रेन रिपेलेंट एक तरह की पॉलिस होती है, जिसे ग्लास पर बाहर की तरफ लगाया जाता है। इसके इस्तेमाल करने से पहले ग्लास को अच्छी तरह साफ कर लेना चाहिए। ग्लास पर धूल, मिट्टी, पानी या दूसरे तरह की गंदगी नहीं होना चाहिए। इसके बाद किसी कॉटन के कपड़े या फिर फोम शीट के टुकड़े पर रिपेलेंट को लेकर ग्लास पर लगा देना चाहिए।

रेन रिपेलेंट की कीमत

रेन रिपेलेंट को ऑनलाइन मार्केट के साथ दूसरी ऑटो शॉप से भी खरीदा जा सकता है। इनकी कीमत 300 रुपए से शुरू हो जाती है। अच्छी क्वालिटी के रिपेलेंट 500 से 1000 रुपए तक मिल जाते हैं।

0

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0