मार्च 2025 तक जनौषधि केंद्रों की संख्या 10,500 तक बढ़ाने की सरकार की योजना: गौड़ा – ईटी हेल्थवर्ल्ड

सोमवार को टॉलीचोकी पासपोर्ट सेवा केंद्र के सामने आवेदकों को लगाया गया।नयी दिल्ली, 17 सितंबर भाषा सरकार ने रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय ने गुरुवार को कहा

होम-क्वारंटाइज्ड को पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मल स्कैनर – ईटी हेल्थवर्ल्ड खरीदने की सलाह दी
सरकार उपचार के लिए टोसीलिज़ुमाब समावेश को फिर से देखना चाहती है – ईटी हेल्थवर्ल्ड
दिल्ली में 16 जुलाई को खोलने के लिए निगम अस्पताल में 100 बिस्तर की सुविधा – ईटी हेल्थवर्ल्ड

सोमवार को टॉलीचोकी पासपोर्ट सेवा केंद्र के सामने आवेदकों को लगाया गया।

नयी दिल्ली, 17 सितंबर भाषा सरकार ने रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि देश में प्रधान मंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्रों (PMBJK) की संख्या को बढ़ाकर 10,500 करने की कोशिश की जा रही है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि 15 सितंबर, 2020 तक, देश में जनऔषधि केंद्रों की संख्या 6,606 थी।

रसायन और उर्वरक मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने कहा, “आम तौर पर गरीबों के लिए सस्ती दरों पर गुणवत्ता वाली दवाएं उपलब्ध कराने के लिए, सरकार ने मार्च 2025 तक PMBJKs की संख्या को बढ़ाकर 10,500 करने का लक्ष्य रखा है।” ।

इसके साथ देश के सभी जिलों में जनऔषधि केंद्र होंगे। बयान में कहा गया है कि इससे देश के हर नुक्कड़ पर लोगों को सस्ती दवा उपलब्ध हो सकेगी।

केंद्रों के विस्तार के साथ, सभी आउटलेट पर दवाओं के वास्तविक समय पर वितरण को सुनिश्चित करने के लिए एक प्रभावी आईटी-सक्षम रसद और आपूर्ति-श्रृंखला प्रणाली की स्थापना भी चाक-चौबंद की जा रही है।

बयान में कहा गया है कि वर्तमान में, PMBJK के चार गोदाम गुरुग्राम, चेन्नई, बेंगलुरु और गुवाहाटी में कार्यात्मक हैं। सरकार ने देश में दो और गोदाम खोलने की भी योजना बनाई है। AKT MKJ

। (TagsToTranslate) गुणवत्ता वाली दवाइयाँ (t) गुणवत्ता वाली दवा (t) प्रधान मन्त्री bhartiya Janaushadhi kendras (t) janaushadhi kendras (t) सस्ती दर

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0